पंचतन्त्र की कहानियां – Panchtantra Ki Kahaniyan (केवल हिंदी में)

175.00

59 in stock

'पंचतन्त्र' केवल जानवरों की कहानियों का संग्रह नहीं, बल्कि पूरे संसार के ज्ञान-विज्ञान का गागर में सागर है। यह एक पुस्तक ही नहीं, विश्व स्तर की यूनिवर्सिटि है |

अक्ल बड़ी या भैंस ? इसका सही-सही उत्तर 'पंचतन्त्र की कहानियाँ' में मिलेगा जिसे पढ़ने के लिए बड़े-बड़े राजा दूर-दूर के देशों से अपने बच्चों को भारत भेजते थे। इन कहानियों में ब्रह्माण्ड का ज्ञान-विज्ञान भरा पड़ा है ।

यह हीरे-मोतियों से भी अनमोल ज्ञान का सागर है। भीतर और बाहर के जानवरों का स्वभाव जानने के लिए एक स्वच्छ दर्पण है। 'बाइबल' के बाद केवल 'पंचतन्त्र' के ही सर्वाधिक अनुवाद संसार की सभी भाषाओं में हुए हैं। इसे बच्चों के हाथ सौंपकर आप यह गर्व कर सकते हैं कि आपने सारे संसार का ज्ञान भण्डार उन्हें सौंप दिया ।

  Ask a Question

‘पंचतन्त्र’ केवल जानवरों की कहानियों का संग्रह नहीं, बल्कि पूरे संसार के ज्ञान-विज्ञान का गागर में सागर है। यह एक पुस्तक ही नहीं, विश्व स्तर की यूनिवर्सिटि है |

अक्ल बड़ी या भैंस ? इसका सही-सही उत्तर ‘पंचतन्त्र की कहानियाँ’ में मिलेगा जिसे पढ़ने के लिए बड़े-बड़े राजा दूर-दूर के देशों से अपने बच्चों को भारत भेजते थे। इन कहानियों में ब्रह्माण्ड का ज्ञान-विज्ञान भरा पड़ा है ।

यह हीरे-मोतियों से भी अनमोल ज्ञान का सागर है। भीतर और बाहर के जानवरों का स्वभाव जानने के लिए एक स्वच्छ दर्पण है। ‘बाइबल’ के बाद केवल ‘पंचतन्त्र’ के ही सर्वाधिक अनुवाद संसार की सभी भाषाओं में हुए हैं। इसे बच्चों के हाथ सौंपकर आप यह गर्व कर सकते हैं कि आपने सारे संसार का ज्ञान भण्डार उन्हें सौंप दिया ।

Additional information

Weight 0.083 kg
Dimensions 17.78 × 12.7 cm
Be the first to review “पंचतन्त्र की कहानियां – Panchtantra Ki Kahaniyan (केवल हिंदी में)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Reviews

There are no reviews yet.

No more offers for this product!

General Inquiries

There are no inquiries yet.

Main Menu

पंचतन्त्र की कहानियां - Panchtantra Ki Kahaniyan (केवल हिंदी में)

175.00

Add to Cart