• संस्कार विधि (Sanskar Vidhi)

    भारतीय संस्कृति में संस्कारों का विशेष महत्व है । संस्कार हमारे जीवन के आधार हैं । संस्कार का अर्थ होता है शुद्ध करना , साफ करना , चमकाना और भितरी रूप का प्रकाशित करना । हमारी दिनचर्या की भाँति हमारी जीवनचर्या भी निसमित है । जन्म से लेकर मृत्युपर्यन्त के मानव जीवन का गम्भीर अध्ययन करके महर्षि दयनन्द ने मनुष्य के पूर्ण विकास के लिए ऐसा विकास जिसमें शरीर , मन , आत्मा तीनों की उन्नति हो , जिन सुनहरे नियमों की रचना की है उन्हें हम अपनी जीवनचर्या के नियम कहते हैं । हमारे संस्कार भी इसी जीवनचर्या के प्रमुख अंग हैं । – आईए महर्षि दयानन्द कृत संस्कार विधि द्वारा सोलह संस्कारों की पूर्ण विधि जानें । अंग्रेजी में भी उपलब्ध ।

    The Samskāravidhi revived the practice of the Panchamahāyajnas , and the sixteen Samskāras . It represents the synthetic view of the rishis on the Samskāras . It is the authority on the Samskāras . It is not a manual only for the Purohitas . It is a guide book for all people of all classes . It is like the lighthouse in the ocean of life . It conveys the universal message of the Vedas and the rishis to build a better individual and a better world . Its message is for the brahmachari , the acharya , the grihasthi , the vānaprasthi , and the sanyasin , that is , for all classes of people . It is right for all people of all Varnas to perform the Garbhādhāna and other holy Samstāras sacraments prescribed by the Vedas . These sacraments sanctify the body and enhance purification here in this world , and in the hereafter too . -Manusmriti 2/1 . It is absolutely right for all the people to perform the Samskāras , because by their performance the Sharira ( body ) and the atman ( soul ) are refined , and Dharma , Artha , Kāma and Moksha are be attained and the children become more cultured and noble . – Maharishi SvamiDayanandSarasvati .

  • *पी.एनओक साहित्य संग्रह – P. N Oak Complete Sahitya Sangrah

    Sanatan Haat देश के हित में कार्यों के साथ ही वैदिकधर्मियों और भारत के सत्य इतिहास की पुस्तकों का भी प्रचार करता है। लोगो तक उनका सत्य इतिहास पहुँचे इसी कडी में आप Sanatanhaat.com से पुरूषोत्तम नागेश ओक ( P. N Oak ) द्वारा लिखित निम्न पुस्तके उचित मूल्य पर घर बैठे मंगा सकते है।

    2,380.002,600.00

Main Menu